Wednesday, November 21, 2007

london ke school mein hindutva ki anokhi paribhasha

ंदन के स्कूल में हिंदुत्व की अनोखी परिभाषा

Nov 20, 10:34 pm

लंदन। ब्रिटेन के एक विद्यालय ने दाखिले के आवेदन प्रपत्र में हिंदुत्व की अनोखी परिभाषा दी है। विद्यालय के अनुसार सिर्फ उन्हीं लोगों को हिंदू माना जाएगा जो हर दिन ईश्वर की पूजा करते है, मंदिर में धार्मिक कार्यो में शरीक होते है और मांसाहारी भोजन एवं धूम्रपान से दूर रहते है।

लंदन के हैरो स्थित कृष्णा अवंती प्राथमिक विद्यालय ब्रिटेन का पहला हिंदू विद्यालय है जिसे सरकार की ओर से वित्तीय सहायता दी जाती है। हैरो ऐसा क्षेत्र है जहां ब्रिटेन की किसी भी अन्य काउंसिल की तुलना में सबसे अधिक हिंदू आबादी है। यहां कुल 40 हजार हिंदू आबादी बसती है।

सितंबर 2008 में छात्रों के पहले बैच के दाखिले के लिए आवेदन प्रपत्र में हिंदूत्व की एक नई परिभाषा दी गई है। विद्यालय प्रशासन के मुताबिक ऐसे लोगों को हिंदू कहलाने का अधिकार है जो हर दिन घर पर या मंदिर में ईश्वर की पूजा करते है। वे हिंदू ग्रंथों, विशेष तौर पर भगवद्गीता में बताए गए मार्गो का अनुसरण करते हों। हिंदू कहलाने के लिए यह भी आवश्यक है कि वे कम से कम हफ्ते में एक बार मंदिर के धार्मिक अनुष्ठानों में हिस्सा लेते हों। हिंदू कहलाने के लिए मांसाहारी भोजन, शराब, धूम्रपान से दूर रहना भी जरूरी है।

इस विद्यालय का प्रायोजक एक स्वतंत्र चैरिटी संस्थान आई-फाउंडेशन है। संस्थान के प्रवक्ता ने बताया कि ऐसा नहीं है कि जो लोग हिंदुत्व की इस परिभाषा पर खरे नहीं उतरते, उनके आवेदन पर ध्यान नहीं दिया जाएगा। केवल 30 सीटे होने की वजह से निश्चित तौर पर हम उन लोगों को वरीयता देंगे जो इन कसौटियों पर खरे उतरते है। उन्होंने कहा कि हिंदुत्व को परिभाषित करने के लिए इन मानदंडों को बनाना बिल्कुल सही है। ऐसा कर हम समझ सकते है कि कौन हिंदू धर्म को सही तरीके से अपना रहा है।